9 March 2012

राझ

. . .

दिल तो तुने खोल के रख दीया उनके सामने 'दर्शित'
जिन्हें सिर्फ ये देखना था की राझ उसमें कीतने छुपे है

. . .
Post a Comment